उप्र में कोरोना मरीजों की संख्या 727 हुई, 44 जिले चपेट में

HNU Thu, Apr 16, 2020, 11:09 AM IANS

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस तेजी से पांव पसार रहा है। बुधवार को राज्य में मरीजों की संख्या 727 हो गई है। इस महामारी की चपेट में राज्य के 44 जिले आ चुके हैं। इसमें तब्लीगी जमात के कुल 428 मरीजों की संख्या पहुंच गई है। संक्रामक रोग विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ़ विकासेंदु अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश के आगरा में 149, लखनऊ में 75, गाजियाबाद में 27, गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में 82, लखीमपुर खीरी में 4, कानपुर नगर में 18, पीलीभीत में 2, मुरादाबाद में 21, वाराणसी में 9, शामली में 22, जौनपुर में 4, बागपत में 14, मेरठ में 65, बरेली में 6, बुलंदशहर में 12, बस्ती में 16़, हापुड़ में 15, गाजीपुर में 5, आजमगढ़ में 6, फिरोजाबाद में 25, हरदोई में 2, प्रतापगढ़ में 6, सहारनपुर में 53 व शाहजहांपुर में 1, बांदा में 3, महराजगंज में 6, हाथरस में 4, मिर्जापुर में 2, रायबरेली में 2, औरैया में 5, बाराबंकी में 1, कौशाम्बी में 2, बिजनौर में 9, सीतापुर में 14, प्रयागराज में 1, मथुरा में 4 व बदायूं में 2, रामपुर में 6, मुजफ्फरनगर में 5, अमरोहा में 10 व भदोही में 1, कासगंज में 3, इटावा में 1, संभल में 6 व्यक्ति की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना वायरस से पीड़ित बुजुर्ग की मौत हो गई है। यह राजधानी में कोरोना से पहली मौत है। बुजुर्ग को बीते शनिवार को किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में भर्ती कराया गया था।

केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि बुजुर्ग को गंभीर हालत में भर्ती किया गया था। डायबिटीज की वजह से उनके गुर्दे प्रभावित हो गए थे। फेफड़ों में भी संक्रमण था। डॉक्टरों की टीम लगातार उनकी सेहत की निगरानी कर रही थी। दोपहर करीब ढाई बजे मरीज की सांसें थम गईं। उन्होंने कहा कि लखनऊ में यह कोरोना से पहली मौत है।

बीते दिनों बुजुर्ग को ट्रॉमा सेंटर के कैजुअल्टी वार्ड में भर्ती करने को लेकर जमकर बवाल हुआ था। इसकी जांच के लिए एक चार सदस्यीय कमेटी का भी गठन किया गया था। वहीं, मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद 65 चिकित्सकों और चिकित्सा कर्मियों को क्वारंटीन किया गया था।

प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में उपचार के बाद 727 में से 55 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है। जबकि 11 मरीजों की मौत हुई है।

उन्होंने बताया कि मृतक पहले से ही किसी ना किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थे। प्रदेश के 44 जनपद कोरोना से प्रभावित हुए हैं। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने टेस्टिंग की संख्या में इजाफा करते हुए मंगलवार को 2433 सैंपलों की टेस्टिंग की गई है। वर्तमान में संदिग्ध व सर्विलांस के आधार पर 10661 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है। ये ऐसे लोग हैं कि जो किसी ना किसी तरह कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आ गए थे।

प्रसाद ने बताया कि अबतक कोरोना पॉजिटिव केसों में 0 से 20 वर्ष वर्ग के 17 प्रतिशत, 21 से 40 वर्ष उम्र वर्ग के 46़ 5 प्रतिशत, 41 से 60 वर्ष उम्र वर्ग के 26 प्रतिशत और 60 से अधिक उम्र के 10़5 प्रतिशत लोग शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि हर जनपद के अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जहां कोरोना का एक भी केस ना हो, तब भी 20 सैंपल हर रोज टेस्ट के लिए दें। जहां कोरोना के अधिक केस हैं, हॉटस्पॉट अधिक हैं, वहां से हर रोज 200 सैंपल टेस्ट के लिए भेजने का निर्देश दिया गया है।